डॉट नेट क्या है एवं उपयोग | Best info .NET In Hindi

डॉट नेट क्या है एवं उपयोग | .NET क्या है और इसकी विशेषताएं? | What Is Dot Net And Uses

डॉट नेट क्या है एवं उपयोग – डॉट नेट- डॉट नेट, इन शब्दों ने पहले से प्रोग्रामिंग कर रहे प्रोग्रामरों और प्रोग्रामिंग की इच्छा रखने वाले लोगों के मस्तिष्क के एक अच्छे खासे भाग में अपना स्थान बना लिया है। आखिर यह डॉट नेट क्या है? क्या डॉट नेट माइक्रोसॉफ्ट का कोई नया अजुना है? इसके फीचर क्या हैं? क्या इसको जानना और सीखना आवश्यक है? आईए हम इस आर्टिकल में डॉट नेट के मौलिक बिन्दुओं पर चर्चा करते हैं।

डॉट नेट और इण्टरनेट के बीच में क्या कुछ सम्बन्ध है?- डॉट नेट और इण्टरनेट के बीच कुछ ही नहीं परन्तु बहुत ही गहरा सम्बंध है। डॉट नेट वस्तुत: वर्ल्ड वाइड वेब के टॉप लेवेल डोमेन (top level domain) के पीरियड अर्थात डॉट पर ही नामित हुआ है। अगर इसे डॉट कॉम वाला प्रोग्रामिंग भाषा या डॉट कॉम वाला विजुअल बेसिक कहें तो गलत न होगा। इन भाषाओं में प्रोग्रामिंग का इण्टरनेटीकरण हुआ है।

डॉट नेट क्या है? (What is Dot net ?)

डॉट नेट एक प्रोग्रामिंग भाषा है ? कतई नहीं । तो यह क्या है? डॉट नेट एक प्लेटफॉर्म है जिसके अनुरूप माईकोसॉफ्ट ने कई भाषाओं को विकसित किया है जो भाषाएँ इस प्लेटफॉर्म का अनुकरण करती है उन्हें हम डॉट नेट प्रोग्रामिंग भाषा कहते हैं । इसे हम प्रोग्रामिंग भाषाओं का आचार संहिता (Code of conduct) भी कह सकते है जिस पर कार्य करते समय डॉट नेट के कोड्स को समझना आवश्यक होता है।

डॉट नेट क्यों है? (Why Dot net ?)

मान लें कि आप किसी ऐसे प्रोजेक्ट पर कार्य कर रहे हैं जहाँ असाधारण एक्सिलेन्स (excellence) की आवश्यकता है और आप दुनिया के विभिन्न कोनों से लोगों को इस प्रोजेक्ट पर कार्य करने के लिये आमंत्रित करते हैं। लोग आते है उनमें एक अमेरिकी, एक फ्रांसिसी, एक स्पेनीश, एक जर्मन, एक जापानी, एक अरबी और कुछ हिन्दुस्तानी हैं। आप के लिए सब बराबर आवश्यक हैं। सब से कुछ न कुछ काम लेना है। मुश्किल यह है कि सबकी भाषा अलग है। आप के पास ऐसा क्या उपाय होगा कि सब के असाधारण क्षमताओं का उपयोग उसकी भाषा को बदले बगैर कर लें। उपाय केवल एक ही है।

सबको अपने-अपने तरीके से काम करने की आजादी होगी परन्तु सब के काम के तरीके को आपको समझना होगा। ताकि आप समझकर उन्हें मनिप्यूलेट कर के आगे के लोगों को बता सके। माइक्रोसॉफ्ट ने यही तरीका डॉट नेट के रूप में विकसित किया। और इसी लिये डॉट नेट है। अगर आप पहले से प्रोग्रामिंग कर रहे हैं तो आपको पता होगा कि दो अलग-अलग भाषाओं उदाहरणार्थ बेसिक और C++ के मेल से किसी प्रोग्राम को विकसित करना कितना कठिन था। यहाँ तक कि माइक्रोसॉफ्ट विजुअल बेसिक तथा C++ में भी यह आसान नहीं था। इनहीं सब को देखते हुए माइक्रोसॉफ्ट ने डॉट नेट फ्रेमवर्क को विकसित किया।

डॉट नेट फ्रेमवर्क ऑपरेटिंग सिस्टम तथा आप के द्वारा लिखे गये प्रोग्राम के बीच एक माध्यमिक स्तर (intermediate level) का कार्य करता है। ऐसा करने से प्रोग्रामिंग की दो प्रमुख समस्याओं का निदान होता है। यह अलग-अलग प्रोग्रामिंग भाषाओं को एक दूसरे के साथ ताल मेल बनाए रखने में सहायता करता है।

डॉट नेट फ्रेमवर्क में प्रोग्रामिंग भाषाएँ कम्प्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ डायरेक्ट एक्सेस बनाने के बजाय अर्थात ऑपरेटिंग सिस्टम में स्वयं स्ट्रिंग तथा संख्याओं को संग्रहित करने के बजाय डॉट नेट इसे अपने-अपने तरीके से कम्प्यूटर पर संग्रहित करता है। फलस्वरूप आप निश्चिंत होकर दो अलग-अलग नेट भाषाओं में अपने प्रोग्राम को विकसित कर पाते हैं।

दूसरी समस्या का निदान यह है कि इसका वाईड डिस्ट्रिब्यूशन सम्भव है। आज आप जो प्रोग्राम विजुअल बेसिक या सी पर विकसित किया हुआ चलाते हैं वह आप उसी पर चलाते हैं जो आपके मशीन के हार्ड डिस्क पर सचित हैं। वी० बी० डॉट नेट पर विकसित किये हुए प्रोग्राम को इण्टरनेट या लैन ( लोकल एरिया नेटवर्क) पर आसानी से वितरित किया जा सकता है। आप दुनिया के किसी कम्प्यूटर पर सुरक्षित कर उसे उस नेटवर्क से जुड़े किसी भी कम्प्यूटर से एक्सेस कर सकते है बशर्ते उस पर डॉट नेट फ्रेमवर्क उपलब्ध हो ।

डॉट नेट क्या है एवं उपयोग एवं कार्य | डॉट नेट क्या है in Hindi? | डॉट नेट का उपयोग कहां किया जाता है?

डॉट नेट क्या है एवं उपयोग | .NET क्या है और इसकी विशेषताएं? | What Is Dot Net And Uses
डॉट नेट क्या है एवं उपयोग | .NET क्या है और इसकी विशेषताएं? | What Is Dot Net And Uses

.NET क्या है और इसकी विशेषताएं?

  • डॉट नेट फ्रेमवर्क माइक्रोसॉफ्ट द्वारा प्रोग्रामरों के लिए एक ऐसा प्लेटफार्म है जहाँ आप ऐसे एप्लीकेशनों का निर्माण कर सकते हैं जिसमें अकल्पनीय विजुअल उपभोक्ता अनुभव, दरार रहित सुरक्षित कम्युनिकेशन का समावेश है। साथ ही व्यापारिक प्रोसेसेज की एक श्रृंखला का मॉडल तैयार करने की क्षमता है। डॉट नेट फ्रेमवर्क आपको एक व्यापक तथा अपरिवर्तनीय प्रोग्रामिंग मॉडल तथा ए० पी० आई० का एक कॉमन सेट प्रदान करता है जो आपको आपके मनचाहे तरीके से एप्लीकेशन विकसित करने की स्वतंत्रता देता है। आप इसकी मदद से अपने मनचाहे भाषा में सॉफ्टवेयर, सर्विसेज तथा डिवाइसेज को लागू कर सकते हैं।

  • विजुअल बेसिक डॉट नेट या वी० बी० डॉट नेट विजुअल बेसिक का माइक्रोसॉफ्ट डॉटनेट फ्रेमवर्क संस्करण है। विजुअल बेसिक डॉट नेट ऑब्जेक्ट ओरिएण्टेड प्रोग्रामिंग भाषा है। वी० बी० डॉट नेट की सहायता से आप बड़े स्तर पर भी एप्लिकेशन विकसित कर सकते हैं बगैर इसकी चिन्ता किये हुए कि आप प्रोग्रामिंग में निपुण है या नहीं हैं।
  • नेमस्पेस का उपयोग एक जैसे क्लास तथा इंटरफेस के लॉजिकल समूहों के निर्माण में होता है जिसे किसी भी ऐसे भाषा द्वारा उपयोग में लाया जा सकाता है जो डॉट नेट फ्रेमवर्क को टारगेट करता है ।
  • डॉट नेट फ्रेमवर्क लायब्रेरी या क्लास लायब्रेरी बार-बार उपयोग में लाये जाने वाले क्लासों का एक संकलन होता है जो कॉमन लैंग्वेज रनटाइम के साथ जुड़ा होता है।
  • दो अलग अलग सिस्टम या कम्पोनेण्ट के द्वारा सूचना के आदान प्रदान करने तथा उनका उपयोग करने की
    क्षमता को इंटरऑपरेबिलिटी कहा जाता है । 
  • एम० एस० आई० एल० का पूर्ण रूप माइक्रोसॉफ्ट इंटरमीडिएट लैंग्वेज (Microsoft Intermediate Language) है। इसे आइ एल (IL) या इन्टरमीडिएट लैंग्वेज (Intermediate Language) के नाम से भी जाना जाता है। इसे कभी-कभी कॉमन इंटरमीडिएट लैंग्वेज के नाम से भी संबोधित किया जाता है।
  • डॉट नेट फ्रेमवर्क दो मुख्य भाग पर निर्मित है। ये दो भाग कॉमन लैंग्वेज रनटाइम तथा डॉट नेट फ्रेमवर्क क्लास लायब्रेरी है। कॉमन लैंग्वेज रनटाइम डॉट नेट फ्रेमवर्क का फाउण्डेशन व आधारशिला होता है। रनटाइम एक एजेण्ट की तरह होता है जो एक्जिक्यूशन के दौरान कोड को व्यवस्थित करने के लिए मेमोरी प्रबंधन, थ्रेड प्रबंधन तथा रिमोटिंग के साथ- साथ स्ट्रिक्ट टाइप सेफ्टी (Strict Type Safety) तथा कोड एक्युरेसी (code accuracy) के विभिन्न रूपों को लागू करता है जो सुरक्षा तथा शक्ति को प्रोत्साहित करता है।
  • कॉमन लैंग्वेज रनटाइम की चार भूमिकाएँ गारबेज संकलन, कोड परिक्षण, कोड एक्सेस सुरक्षा भाषा से स्थानीय भाषा में अनुवाद हैं ।
  • आम तौर पर यह कहा जाता है कि विजुअल बेसिक डॉट नेट विजुअल बेसिक का ही उन्नत संस्करण है। यह बात कुछ हद तक सही है पर दोनों के स्टाइल में काफी अंतर है इसलिए विजुअल बेसिक प्रोग्रामर को डॉट नेट पर काम करने के लिए डॉट नेट सीखना जरूरी होगा। अतः यह कहा जा सकता है कि इसमें काम करने पर बैकवर्डस् कम्पैटिबिलिटी (backwards compatibility) को छोड़ना होगा।
  • डॉट नेट फ्रेमवर्क और डॉट नेट भाषाओं में विकसित प्रोग्राम का सम्बन्ध वही है जो बर्फ और ध्रुविये भालू का है।
  • डॉट नेट की सबसे खास बात यह है कि यह सुरक्षित होने के साथ ही विकास के लिए एक से अधिक भाषा पर कार्य करने हेतु प्लेटफॉर्म देता है। विकासकर्त्ता तथा आई० टी० विशेषज्ञ डॉट नेट को एक शक्तिशाली तथा कर्मठ सॉफ्टवेयर विकासकर्ता प्रौद्योगिकी के रूप में भरोसा करते हैं जो न केवल सुरक्षा एडवांसमेंटस (Security Advancements), प्रबंधन टूल्स (Management Tools) आपको उपलब्ध कराता है बल्कि आपको अत्यंत विश्वसनीय तथा सुरक्षित सॉफ्टवेयर बनाने, जाँचने तथा डिप्लॉय करने हेतु आवश्यकता अनुसार अपडेट भी करता है।
  • फ्रेमवर्क का शाब्दिक अर्थ होता है आकार तथा सपोर्ट देने वाली ढाँचा। इसका एक और अर्थ सामाजिक व्यवस्था और प्रणाली भी होता है। इन अर्थ के प्रकाश में यह कहा जा सकता है कि डॉट नेट फ्रेमवर्क एक ढाँचा है जो प्रोग्रामिंग को एक आकार, रूप तथा सपोर्ट प्रदान करता है।

Dot net Question & Answer

Question-  डॉट नेट और इण्टरनेट के बीच में क्या कुछ सम्बन्ध है?
Answer – डॉट नेट और इण्टरनेट के बीच कुछ ही नहीं परन्तु बहुत ही गहरा सम्बंध है। डॉट नेट वस्तुत: वर्ल्ड वाइड वेब के टॉप लेवेल डोमेन (top level domain) के पीरियड अर्थात डॉट पर ही नामित हुआ है। अगर इसे डॉट कॉम वाला प्रोग्रामिंग भाषा या डॉट कॉम वाला विजुअल बेसिक कहें तो गलत न होगा। इन भाषाओं में प्रोग्रामिंग का इण्टरनेटीकरण हुआ है।

Question-  क्या आप वी० बी० डॉट नेट तथा जावा के मेल से प्रोग्राम को विकसित कर सकते हैं?
Answer – नहीं। वी० बी० डॉट नेट तथा जावा दोनों अलग-अलग एन्वायरमेंट का अनुसरण करते हैं। आप केवल अपने प्रोग्राम में वैसे ही भाषाओं का प्रयोग कर सकते हैं जो डॉट नेट संगत हैं। जावा की भूमिका को निभाने हेतु इसमें आप C शार्प (C#) का प्रयोग कर सकते हैं । 

Question-   क्या आप कुछ वी० बी० डॉट नेट संगत भाषाओं के नाम बता सकते हैं ?
Answer – हाँ। इन भाषाओं के नाम विजुअल बेसिक, सी शार्प, सी++, जे शार्प, ए.एस.पी. डॉट नेट और एडा हैं।

Question-   क्या आप डॉट नेट भाषाओं में विकसित प्रोग्राम को माइक्रोसॉफ्ट विण्डोज ऑपरेटिंग सिस्टम, लाइनक्स या मैक ऑपरेटिंग सिस्टम पर चला सकते हैं?
Answer –
इसका उत्तर हाँ तथा ना दोनों में है। डॉट नेट भाषाओं में विकसित प्रोग्राम माइक्रोसॉफ्ट विण्डोज ऑपरेटिंग सिस्टम पर आप रन करा सकते हैं। हालांकि सभी पर नहीं। उदाहरण के लिए विण्डोज एक्स०पी० से पहले के संस्करण डॉट नेट फ्रेमवर्क को सपोर्ट नहीं करते। उसी तरह लाइनक्स और मैक भी इसे सपोर्ट नहीं करते। परन्तु भविष्य में यदि मैक, विण्डोज और लाइनक्स के साथ ताल मेल होता है तो यह सम्भव है।

5/5 - (1 vote)
Suraj Kushwaha
Suraj Kushwahahttp://techshindi.com
हैलो दोस्तों, मेरा नाम सूरज कुशवाहा है मै यह ब्लॉग मुख्य रूप से हिंदी में पाठकों को विभिन्न प्रकार के कंप्यूटर टेक्नोलॉजी पर आधारित दिलचस्प पाठ्य सामग्री प्रदान करने के लिए बनाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here